Signs of nutrient D deficiency. पोषक तत्व डी की कमी के संकेत ।

Share:

By healthtipsmafia  January 13  8:10pm


आज हम बात करेंगे ऐसी चीज़ की जिसे ज्यादातर लोग नज़रअन्दाज़ कर देते हैं और वह हमारी बॉडी में व्हिटॅमिन डी की कमी। इन्फेक्ट आजकल सबसे ज्यादा डिफिशिएंसी जो लोगों में पाई जाती हैं वह है व्हिटॅमिन डी की और आप जानते हैं कि इसका सल्यूशन कितना आसान है सिर्फ सनलाइट ही तो लेनी हैं लेकिन हम उसका भी टाइम नहीं निकाल पाते तो ।

आज में आपको बताने वाला हूँ कि व्हिटॅमिन डी की डेफिशन्सी के कारण आपको क्या क्या बीमारियां हो सकती है और इससे बचने के लिए कितनी देर आप सनलाइट लें और इससे जुड़े काही और टिप्स।

व्हिटॅमिन एक एस न्यूट्रिएंट है जो हमारी बॉडी के अंदर नाही बनता बल्लकी इसे बहार के सोर्स से अपनी बॉडी के अंदर लाना पडता है और इसका आसाण उपाय है सनलाइट यानिकी सुरज की धूप चलिए समजते है हमारी बॉडी को व्हिटॅमिन डी क्यो चाहिए होता है और क्या होता है जब हमारी बॉडी में व्हिटॅमिन डी की कमी हो जाती है । हमारी हडिया कैल्शियम से बनती है इनकी ग्रोथ और मजबुती के लिए हमारी बॉडी को कैल्शियम चाहीए।अब जो कैल्शियम हम अपनी डाइट से लेते है व्हिटॅमिन डी उस कैल्शियम और फॉस्फोरस को हमारी बॉडी में एक्सझोर्ब करवाता है ।आसन शब्दोमें कहू तो बिना व्हिटॅमिन डी के हमारी बॉडी को कैल्शियम नाही लगता जसके कारण बच्चो में बोन्स की डेवलपमेंट नहीं हो पाती। बड़ों में कमजोर हड्डियों की प्रॉब्लम रहती है। ऑस्ट्रॉसपर क्रिकिंग होने का ख़तरा भी बन सकता है विटामिन डी हमारी बोंस और दांतों की ग्रोथ के लिए तो अच्छा है ही साथ ही साथ हमारी बॉडी में इंसुलिन लेवल को मेंटेन रखता है। और ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल करता है प्रेग्नेंसी के टाइम व्हिटॅमिन डी बहुत इम्पोर्टेन्ट होता है और इसकी डिप्रेशन की वजह से जेस्टेशन डाइबटीज या सीशेक्शन का ख़तरा बन सकता है।

अब बात करते है कि किन लोगों को विटामिन डी की डिफिशिएंसी से होने का ख़तरा बना सकता है वैसे तो हमेशा ज्यादातर लोगों विटामिन डी की डिफिशिएंसी होती है क्योंकि हम में से बहुत कम लोग धूप में बैठने का टाइम निकाल पाते इसके अलावा और भी कई कारण हो सकते हैं जिससे कि हमें विटामिन डी की डिफिशिएंसी हो सकती है जैसे कि ज्यादा टाइम घर के अंदर ही रहना ज्यादा पोल्लुशन वाले एरियाज में रहना या फिर ज्यादा संसक्रीम यूज़ करना जिन लोगों का कॉम्प्लेक्शन डारक होता है उन्हें भी ये डिफिशिएंसी सी हो सकती है क्योंकि उनके स्किन में मैने ज्यादा होता है जिसकी वजह से उनकी बॉडी में विटामिन डी अच्छे से एबजॉब नहीं हो पाता विटामिन डी की कमी से हड्डियाँ सौंफ्ट पड सकती हैं हड्डियों का टूटना बढ़ सकता है हड्डियों में दर्द हो सकता है मसल पेन इत्यादि ये सब हो सकते हैं।
इसके अलावा बारबार बीमार पड़ना, और जल्दी रिकवर न हो पाना बालों का झड़ना ,उदासी, और डिप्रेशन, महसूस होना ये सब भी हो सकता है ।

* कैसे आप विटामिन डी ले सकते है।

आप अपनी बॉडी में विटामिन डी तीन तरह से ले सकते है स्किन से, डाइट से ,या फिर सप्लीमेंट से ।

पहले बात करते हैं स्किन की।

*स्किन

आपने अक्सर फोरेनर्स को सी बीच पर धूप सेंकते देखा होगा उन्होंने ज्यादा कपड़े नहीं पहने होते ताकि डाइरेक्ट सनलाइट अच्छे से उनकी बॉडी पर पढ़ सकें और विटामिन डी बॉडी में जा सके और ये एक अच्छा तरीका है विटामिन डी लेने का।

सनलाइट लेने के लिए जितना पॉसिबल हो सके उतना अपनी बॉडी को डायरेक्ट एक्सपोस करें जैसे कि अर्म्स, लेगस, नेक एरिया ताकि ज्यादा से ज्यादा स्किन पर धूप पढ़ सकें और विटामिन डी बॉडी के अंदर जा सके अगर आप अपने आप को पूरा कवर करके धूप में बैठेंगे तो आपको उसका पूरा फायदा नहीं मिल पायेगा अगर आप हररोज 15 से 20 मिनटं धूप में बेठ ते है । तो वो भी काफी है और हफ्ते में 4 से 5 दिन जरूर धुपले।

Related articles
1. शरीर का तापमान कैसे संतुलित रखें ।
2. तेजी से वजन कैसे बढ़ाएं
3. सफल जीवन के लिए 9 टिप्स.
4. बालो को झड़ने से रोकने के 5 जबरदस्त टिप्स
5. सर्दी जुकाम के घरेलू टिप्स

* डाइट
हम अपनी डाइट में बहुत सारे फूड आइटम्स इंक्लूड कर सकते हैं जिसमें विटामिन डी होता है जैसे कि एग योग, सॉल्ट मिल्क,फिश, मिल्क, सोयामिल्क, इत्यादि।


*सप्लीमेंट
आप मार्केट से मिलने वाले विटामिन डी सप्लीमेंट भी ले सकते हैं किसी भी तरह का विटामिन डी सप्लिमेंट लेने से पहले विटामिन डी डेफिशियन्सी टेस्ट जरूर करा लें ताकि आपको पता हो कि आपको कितनी डोजस चाहिए अपने डॉक्टर से चेकअप कराकर ही इस सप्लिमेंट को ले। क्योंकि जरूरत से ज्यादा विटामिन डी भी आपकी बॉडी को नुकसान पहुंचा सकता है ।

*अब बात करते की जरूरत से ज्यादा विटामिन डी लेने से क्या नुकसान हो सकता है ।

जब बॉडी में ज्यादा विटामिन डी होता है तो हड्डी मैं कैल्शियम जमने लगता है ब्लड ब्लेस हारड हो जाती है हेडीक या उल्टी आने की समस्या हो सकती है भूख कम लगना या कॉन्स्टिपेशन जैसी समस्याएं हो सकती है ।
इसलिए कोई भी सप्लीमेंट लेने से पहले यह जरूर जाणले कि आपकी डेली रिक्वायरमेंट कितनी है और अपने डॉक्टर की सलाह से ही सप्लीमेंट्स ले ।

* Important
हर रोज़ कम से कम 10 मिनट धूप में जरूर बैठें और कोशीश करें कि आपकी बॉडी का ज्यादातर हिस्सा कवर न हो ताकि संनरेज आपकी स्किन को टच कर सकें जैसे भी करके अपने लिए टाइम जरूर निकाले।

उम्मीद करता हूँ कि आज का टॉपिक आपको पसंद आया होगा। आपके मन में इससे जुड़े जो भी सवालों हो आप मुझसे कॉमेंट में पूछ सकते हैं ऑल द बेस्ट है।

No comments

Please do not enter any spam link in the comment box.